“विराट कोहली ने फेक फील्डिंग की, लेकिन…..” बांग्लादेश के आरोप पर इस दिग्गज भारतीय ने दिया करारा जवाब

 

VIRAT KOHLI FAKE FIELDING

भारत ने बांग्लादेश को 5 रनों से हरा दिया है. भारत के अब 4 मैचों में 6 अंक हैं और वह लगभग सेमीफाइनल में पहुंच गए हैं. बांग्लादेश के खिलाफ एक बार फिर विराट कोहली ने शानदार प्रदर्शन करते हुए अर्धशतक जड़ दिया था. विराट कोहली को इस मैच में मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार मिला था, लेकिन बांग्लादेश के खिलाड़ी नुरूल हसन और बांग्लादेश के क्रिकेट बोर्ड ने विराट कोहली पर ‘फेक फील्डिंग’ का आरोप लगाया है.

क्या कहा है नुरूल हसन ने

नुरूल हसन ने कहा कि,

‘हम सभी ने देखा कि ग्रांउड गीला था. अगर हम सभी बातों का ज़िक्र कर रहे हैं, तो ये कहना पड़ेगा कि मैच में एक ‘फ़ेक थ्रो’ भी था. पेनल्टी के तौर पर हमें पाँच रन मिल सकते थे. ये बात हमारे लिए फ़ायदेमंद साबित हो सकती थी पर ये भी नहीं हुआ.’

दरअसल मैच के सातवें ओवर में गेंद बाउंड्री पर गई थी, लेकिन विराट कोहली ने बिना गेंद पकड़े ही थ्रो कर दिया था. इस पर बांग्लादेश बोर्ड और उनके खिलाड़ी अंपायर्स से खफा है कि उनको पेनाल्टी के पांच रन क्यों नही मिले.

हर्षा भोगले ने दिया है जवाब

हर्षा भोगले ने अपने ट्विटर हैंडल का इस्तेमाल करते हुए लिखा कि,

‘फेक फील्डिंग घटना पर सच यह है कि किसी ने इसे नहीं देखा. न अंपायर्स ने न बल्लेबाज ने और ना हमने. नियम 41.5 ऐसे मामलों में पांच रनों की पेनाल्टी लगाने का जिक्र करता है. पर जब किसी ने देखा ही नहीं तो आप इस पर क्या करेंगे. मुझे नहीं लगता कि किसी को भी व्यक्ति को गीली आउटफील्ड को लेकर शिकायत करने का अधिकार है.’

उन्होंने कहा कि

‘शाकिब ने सही कहा था बारिश का फायदा बल्लेबाजी पक्ष को उठाना चाहिए था. अंपायर और क्यूरेटर ने शानदार काम किया, जिससे मैच जल्दी शुरू हो गई. बांग्लादेश में मौजूद मेरे दोस्तों से मेरी अनुरोध है कि कृपया फेक फील्डिंग और गीली आउटफील्ड की शिकायत न करें. मेरे बांग्लादेश के दोस्तों, फेक फील्डिंग या गीले मैदान का बहाना बनाकर लक्ष्य तक नहीं पहुंचने की बात न कहें. अगर एक बैट्समैन आखिर तक बल्लेबाजी करता तो बांग्लादेश यह मैच अपने नाम कर सकता था. हम सब इसके दोषी हैं जब हम बहाने ढूंढते हैं और बड़े नहीं होते हैं.’

 

Related posts