Join Now

पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच पहला टेस्ट मैंच अंतिम दिन बेहद रोमांचक मोड़ पर पहुंच चुका है. पाकिस्तान को इस मुकाबले को जीतने के लिए 7 विकेट हाथ में होने के वाबजूद 216 रन चाहिए. वहीं ऐसे में मेहमान टीम पाकिस्तान को जल्द से जल्द ऑलआउट कर सीरीज के पहले टेस्ट पर कब्जा जमाना चाहेंगी.

वहीं इंग्लैंड के पूर्व कप्तान जो रूट (Joe  Root) चौथे दिन 73 रनों की शानदार पारी खेली. रूट अपनी इस पारी में के दौरान उलट हाथ से भी फ्री क्रिकेट खेलते हुए नजर आए. जिस पर पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) ने जो रूट ने उलटे हाथ से खेलने पर रिएक्शन दिया है.

Shoaib Akhtar ने दी बड़ी प्रतिक्रिया

इंग्लैंड टीम के पूर्व कप्तान जो रूट (Joe Root) अपने स्वाभाविक खेल से थोड़ा हटके बल्लेबाजी करते हुए नजर आए. हालांकि रूट यूं तो दाएं हाथ के बल्लेबाज हैं. लेकिन उन्होंने चौथे दिन पाकिस्तान के गेंदबाजों का मजाक उड़ाते हुए उलटे हाथ से भी बल्लेबाजी करते हुए नजर आए. उनके इस अंदाज से अख्तर को काफी ठेस पहुंची हैं. वहीं जो रूट ने उलटे हाथ से खेलने पर शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) ने कहा,

 ”इंग्लैंड ने हमारा मजाक उड़ाया है. जो रूट उल्टे हाथ से खेल रहा था ये मुझे देखने में काफी अजीब लगा. पाकिस्तान को अब क्या करना है यहां से उन्हें 3.5 की औसत से रन बनाना है. अब यहां से अगर वो इंग्लैंड को मारता है तो उनका विश्वास बढ़ेगा और इंग्लिश टीम का कॉन्फिडेंस टूटेगा जो पाकिस्तान टीम को सीरियस नहीं ले रहे हैं.”

”पाकिस्तान गुर्दा दिखाए मैच जीत जाएगा”

इंग्लॅण्ड टीम ने दूसरी पारी 264 पर घोषित करके पाकिस्तान को इस मैच को जीतने के लिए 4 सेशन में 350 से भी कम का टारगेट दिया. एक तरह से कह सकते हैं कि बेन स्टोक्स ने माइंड गेम खेलकर पाकिस्तान को फंसाने की कोशिश की है.

हालांकि इंग्लैंड अपनी चाल में खुद फंसती हुई नजर आ रही है, क्योंकि पाकिस्तान को इस मुकाबले को जीतने के लिए 200 से भी कम रन चाहिए. वहीं  शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) का मानना है कि पाक टीम थोड़ा दिलहेरी दिखाती है तो वह इस मैच को जीत सकती है. अख्तर ने  अपने यूट्यूब चैनल पर बातचीत करते हुए कहा,

”इंग्लैंड को मारने के लिए अब यहां अगर पाकिस्तान दिल गुर्दा दिखा गया तो वो ये मैच जीत जाएंगे. अगर आप ये मैच जीतते हैं 1-0 होता है तो वो इंग्लैंड को ये बताएंगे कि उन्होंने पारी घोषित करके ठीक नहीं किया. वहीं अगर इंग्लैंड इस टेस्ट मैच को जीता तो ये बात एकदम सच होगी कि वो ये मैच ड्रॉ करवाने के लिए नहीं आए थे. उनका इंटेशन यही था कि हमें हार और जीत के लिए ही खेलना है.”