3 कप्तान जो टी20 विश्व कप के बाद ले सकते हैं संन्यास, एक विश्व चैम्पियन कप्तान भी शामिल

 

SHAKIB AL HASAN

टी20 विश्व कप लगभग समाप्त होने के करीब है. सभी टीमों ने अंतिम चार में जगह बनाने के लिए कड़ी मेहनत की है. अब हमे सेमीफाइनल की सभी टीमें नजर आ गई हैं. इस टूर्नामेंट में कुछ शानदार तो कुछ सामान्य क्रिकेट खेला गया.

इस लेख में हम बात करेंगे ऐसे तीन कप्तानों की जो अपने कद के मुताबिक प्रदर्शन नही कर पाए और अब वह जल्द ही कप्तानी के साथ-साथ क्रिकेट से भी संन्यास ले सकते हैं.

टेम्बा बावुमा

टेम्बा बावुमा इस समय दक्षिण अफ्रीका के कप्तान हैं. इस साल और खासकर के टी-ट्वेंटी विश्व कप में टेम्बा बावुमा बल्ले से शांत रहे हैं. उन्होंने टी20 विश्व कप में 5 मैचों में बल्लेबाजी की, जिसमे उन्होंने 113 की स्ट्राइक रेट से सिर्फ 70 रन बनाए. पूरे टूर्नामेंट में उनका सर्वाधिक स्कोर 36 रन का था, जो उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ बनाए थे.

हालाँकि एक टीम के रूप में दक्षिण अफ्रीका का प्रदर्शन बहुत खराब नही था, अगर दक्षिण अफ्रीका अंतिम मैच में नीदरलैंड्स से ना हारता तो वह बड़े आराम से सेमीफाइनल में पहुंच जाता. क्रिकेट एक्सपर्ट्स की मानें तो जल्द ही टेम्बा बावुमा कप्तानी छोड़ सकते हैं.

शाकिब अल हसन

बांग्लादेश के कप्तान शाकिब अल हसन भी इस टूर्नामेंट में कुछ ख़ास नही कर सके. शाकिब अल हसन ने इस विश्व कप में पांच मैच खेला, जिसमें उन्होंने सिर्फ 44 रन बनाए. शाकिब अल हसन ने गेंद से अच्छा प्रदर्शन किया और 5 मुकाबले में 6 विकेट हासिल किया.

बांग्लादेश की टीम अच्छी रही उन्होंने कुछ अच्छा क्रिकेट खेला, लेकिन शाकिब अल हसन बल्ले से असफल रहे, जिससे वह सेमीफाइनल में नही पहुंच पाए.

आरोन फिंच

ऑस्ट्रेलिया के कप्तान आरोन फिंच ने टूर्नामेंट से पहले ही एकदिवसीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था. आरोन फिंच का इस विश्व कप में प्रदर्शन समान्य ही रहा. उन्होंने इस विश्व कप 107 रन बनाए थे, जिसमे उनका स्ट्राइक रेट सिर्फ 110 का रहा.

आरोन फिंच ने पिछले साल ऑस्ट्रेलिया को चैंपियन बनाया था, लेकिन इस बार वह सेमीफाइनल में भी पहुंच नही बना पाए. अफगानिस्तान के खिलाफ अंतिम मैच में फिंच अंतिम एकादश में जगह भी नही बना पाए थे. बताया जा रहा है टी-ट्वेंटी विश्व कप के बाद आरोन फिंच टी-ट्वेंटी क्रिकेट से भी संन्यास ले लेंगे.

Related posts