विराट कोहली की इस हरकत पर नहीं गई अंपायर की नजर नहीं तो बांग्लादेश की जीत थी पक्की

 

VIRAT KOHLI FAKE

भारत और बांग्लादेश के बीच टी-20 वर्ल्ड कप में हुए मुकाबले में विराट कोहली (Virat Kohli) की फील्डिंग को लेकर तरह-तरह की बातें कही जा रही है. दरअसल इस मैच में किस्मत पूरी तरह टीम इंडिया के पक्ष में थी तभी तो भारत को इस मुकाबले में जीत मिली जो मुकाबला टीम के हाथ से निकल सकता था.

दरअसल इस मुकाबले के खत्म होने के बाद फील्डिंग को लेकर खूब जोरो शोरो से चर्चा चल रही है. कई लोगों का मानना है कि विराट कोहली (Virat Kohli) की हरकत के बाद टीम इंडिया के 5 अंक काटने चाहिए थे, लेकिन ऐसा हुआ नहीं. अगर ऐसा होता तो फिर नतीजा बांग्लादेश के पक्ष में हो सकता था.

किस्मत ने दिया भारत का साथ

भारत और बांग्लादेश के बीच हुए मुकाबले में टीम इंडिया ने बांग्लादेश को हराकर यह मैच 5 रनों से जीता. सबसे चौकाने वाली बात यह है कि अगर टीम इंडिया को पेनल्टी लग जाती तो फिर यह मैच पूरी तरह फंस सकता था, लेकिन विराट कोहली (Virat Kohli) के साथ-साथ टीम इंडिया की किस्मत अच्छी थी कि ऐसा नहीं हुआ जहां इस मुकाबले को जीतने के बाद अब टीम इंडिया का सेमीफाइनल में पहुंचना लगभग तय हो चुका है.

इस बार टीम इंडिया टी-20 वर्ल्ड कप में जो शानदार कमाल दिखा रही हैं, उससे यह माना जा रहा है कि इस बार टी-20 वर्ल्ड कप का मुकाबला बेहद ही रोचक होने वाला है.

विराट कोहली पर उठा सवाल

दरअसल भारत और बांग्लादेश के बीच मुकाबले पर बारिश का खतरा मंडरा रहा था जब बारिश से पहले बांग्लादेश की बल्लेबाजी चल रही थी, उस दौरान विराट कोहली (Virat Kohli) की एक अजीब सी हरकत कैमरे में कैद हो गई. जब बांग्लादेश की तरफ से लिटन दास बल्लेबाजी कर रहे थे तो भारतीय गेंदबाज अक्षर पटेल सामने गेंदबाजी करने आए.

इस दौरान बल्लेबाज के बल्ले से लगी गेंद अर्शदीप सिंह के पास गई थी और उन्होंने गेंद विकेटकीपर की ओर थ्रो किया. इस बीच विराट कोहली (Virat Kohli) ने ऐसा दिखाया कि गेंद उनके हाथ में है और वह थ्रो कर रहे हैं, जहां यह वीडियो सोशल मीडिया पर अब जमकर वायरल हो रहा है.

क्या कहता है आईसीसी का नियम

अगर आईसीसी के नियम पर एक नजर डालें तो विराट कोहली (Virat Kohli) ने जो हरकत की है, उसका हर्जाना टीम इंडिया को भुगतना पड़ सकता था, लेकिन किस्मत टीम इंडिया के पक्ष में थी. दरअसल आईसीसी नियम 41.5.1 के मुताबिक यह गलत है.

अगर कोई फिल्डर जानबूझकर अपने शब्दों और एक्शन से बल्लेबाज को डिस्ट्रेक्ट करने की कोशिश करता है, तो फिर इसके लिए उन पर पेनल्टी लगाई जाती है, जहां टीम इंडिया के साथ ऐसा हो सकता था, लेकिन भारत की किस्मत अच्छी थी.

Related posts