Join Now

Team India: भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानि BCCI ने आज अपने आगामी फ्यूचर टूर प्रोग्राम की जानकारी को अभी स्टेट एसोसिएशन के पास भेज दिया है. इस प्रोग्राम में भारतीय टीम के द्वारा साल 2023 से 2027 के बीच खेले जाने वाले सभी मैचों की जानकारी है. ध्यान देने वाली बात यह है कि पिछले पांच सालों के प्रोग्राम की तुलना में अब मैचों की संख्या भी कम की गयी है और इस ताजा जानकारी के बाद यह भी साफ़ हो गया की अगले पांच साल तक भी भारत-पाक के बीच कोई भी सीरीज नहीं खेली जाएगी.

Team India 2023-2027 के बीच खेलेगी कुल 141 मैच

बीसीसीआई (BCCI) के द्वारा जारी किये गये प्रोग्राम के मुताबिक भारतीय टीम (Team India) इस साल तीनों फॉर्मेट में मिलाकर 141 मैच ही खेलने वाली है. पिछले साल टीम ने 163 द्विपक्षीय मुकाबले खेले थे जिसमें इस साल 22 मैचों की कमी की गयी है. इस कमी के चलते खिलाड़ियों पर दवाब कम होगा.

भारतीय टीम मल्टी-नेशन टूर्नामेंट में इन पांच वर्षों (2023-2027) के दौरान 38 टेस्ट (20 घरेलू, 18 विदेश में), 42 ODI (21 घरेलू, 21 विदेश में), 61 T20 (31 घरेलू, 30 विदेश में) मैच खेलेगी. बता दें की BCCI ने सभी स्टेट एसोसिएशन को 2023-2027 तक का जो फ्यूचर टूर प्रोग्राम (FTP) भेजा है, उसमें पाकिस्तान के कॉलम को रिक्त रखा गया है.

ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड में दो सीरीज खेलेगी इंडिया

टीम इंडिया (Team India) इस दौरान हर साल ऑस्टेलिया और इंग्लैंड के साथ द्विपक्षीय मुकाबले खेलेगी. दोनों देशों के साथ भारत घर पर और विदेश दोनों जगह क्रिकेट खेलेगी. भारतीय टीम हर दो साल में ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड से पांच मैचों की टेस्ट सीरीज घरेलू सरजमीं पर और विदेश में खेलेगी.

इसके अलावा वेस्टइंडीज़ के साथ लिमिटेड ओवर टूर के साथ टीम इंडिया न्यूजीलैंड के साथ भी टी20 मैच खेलने वाली है. दोनों टीमों के इंडिया घर पर भी 5 टी20 मैच खेलेगी. इसके अलावा भारतीय टीम आईसीसी इवेंट जैसे वर्ल्ड कप में भी हिस्सा लेने वाली है. भारतीय क्रिकेट टीम को आगामी 5 सालों में ज़िम्बाब्बे और साउथ अफ्रीका के साथ भी वनडे सीरीज खेलनी है.

आईपीएल के चलते हुई मैचों की संख्या में कटौती

भारतीय टीम (Team India) के आगे पांच सालों के मुकाबलों पर नजर डालें तो यहां पर मैचों की संख्या में कमी देखने को मिली है. 2018 से 2022 के बीच में भारत ने 163 द्विपक्षीय मुकाबलों में भागीदारी की थी लेकिन अगले पांच सालों में यह आंकड़ा 141 का रह गया है.

सूत्रों की माने तो मैचों की कटौती की वजह आईपीएल के लिए दी गयी एक अलग विंडो भी मानी जा रही है. लगभग 2 महीने के इस टूर्नामेंट के लिए खिलाड़ियों को आराम मिलना जरूरी है और मैच की संख्या कम करने से इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) खेलने के लिए खिलाड़ियों को पर्याप्त आराम मिल सकता है. आईपीएल के आगामी सीजन में 75-80 मैच आयोजित होंगे