भारत और श्रीलंका (IND vs SL) के बीच खेले जाने वाली तीन टी20 मैचों की सीरीज का आगाज हो चुका है। 3 दिसंबर को मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में इसका पहला मुकाबला खेला गया। जहां मेहमान टीम ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी की। पहले बल्लेबाजी करते हुए मेजबान टीम की शुरुआत बेहद ही खराब रही। लेकिन अक्षर पटेल और दीपक हुड्डा की ताबड़तोड़ पारी के बदौलत टीम ने 163 रन का टारगेट खड़ा किया, जिसको दासुन शनाका की सेना हासिल करने में नाकामयाब हुई।

IND vs SL: मैच में आया दीपक हुड्डा-अक्षर पटेल के नाम का तूफान

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम ने श्रीलंका के सामने पांच विकेट के नुकसान पर 163 रन का लक्ष्य रखा। खराब शुरुआत के बावजूद टीम इंडिया ने अक्षर पटेल और दीपक हुड्डा की शानदार साझेदारी की बदौलत पांच विकेट खोकर 162 रन बनाए। भारत की ओर से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले दीपक हुड्डा रहे, जिन्होंने 23 गेंदों पर 41 रन की पारी खेली।
इनके अलावा ईशान किशन ने 37, अक्षर ने 31 और हार्दिक ने 29 रन अपने खाते में जोड़े। इन चारों खिलाड़ियों के सिवाय कोई भी भारतीय बल्लेबाज अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सका और छोटी-छोटी पारी खेलकर आउट हुआ। दूसरी ओर कसून रजिथा इकलौते ऐसे श्रीलंकाई गेंदबाज रहे जिन्होंने कोई भी विकेट नहीं लिया। बाकी सभी गेंदबाजों ने एक-एक विकेट हासिल किया।

IND vs SL: टीम इंडिया की हुई जीत

जवाब में दिए गए टारगेट को हासिल करने के लिए बल्लेबाज़ी करने आई श्रीलंकाई टीम (IND vs SL) को अच्छी शुरुआत नहीं मिल सकी। टीम को पहला झटका 12 रनों पर लगा। श्रीलंका की ओर से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले दसुन शनाका रहे, जिनके बल्ले से 45 रन निकले। इनके अलावा कोई भो बल्लेबाज अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सका। पारी की शुरुआत करते हुए सलामी बल्लेबाज पाथुम शनाका और कुसल मेंडिस क्रमशः 1 और 28 रन की पारी खेलकर आउट हुए।

चरिथ असलंका (12) और भानुका राजपक्षे (10) भी छोटी-छोटी पारी खेल पवेलियन लौटे। वहीं, धनजया सिल्वा, कसून रजिथा और महीश थीक्षणा दहाई अंक का आंकड़ा भी नहीं छू पाए। वानिंदु हसरंगा भी 21 रन बनाने में कामयाब हुए, जबकि दिलसाना मदुशंका बिना खाता खोले आउट हो गए। इस प्रदर्शन के बाद टीम निर्धारत ओवर में ऑलआउट होकर महज 160 रन ही बना सकी।

आखिरी ओवर में अक्षर ने पलटा मुकाबला

भारतीय टीम (IND vs SL) की इस जीत में अहम योगदान अक्षर पटेल का रहा। दरअसल, आखिरी ओवर में श्रीलंका टीम को जीत के लिए 13 रन की जरूरत थी और चमीका करुणारत्ने की ताबड़तोड़ पारी देख ऐसा लगने लगा कि टीम इंडिया ये मैच हार अपने हाथों से गंवा देगी। ऐसे में कप्तान हार्दिक पांड्या ने उन्हें आखिरी ओवर में गेंदबाजी करने का मौका दिया और उन्होंने महज 6 गेंद में मैच का रुख बदल दिया। उन्होंने इस ओवर की पहली गेंद डाली, जोकि वाइड रही। जिसके बाद विपक्षी टीम के खाते में फ्री का एक रन जाने के साथ-साथ एक मुफ़्त गेंद भी मिली।

फ्री हिट पर रजिथा ने एक रन बनाए। ओवर की दूसरी गेंद अक्षर ने डॉट फेंकी। तीसरी गेंद पर चमीका के बल्ले से एक गगनचुंबी छक्का निकला। अब जीत के लिए श्रीलंका को तीन गेंद पर 5 रन की दरकार थी। चौथी गेंद पर कोई रन नहीं बन सका। हालांकि पांचवीं गेंद और छठी गेंद पर दीपक हुड्डा ने कसून और दिलशान को रन आउट किया। इस तरह अक्षर ने श्रीलंका के जबड़े से जीत छिनकर भारत की झोली में डाली।