IND vs BAN: विराट कोहली के ‘फेक फील्डिंग’ का मामला गरमाया, गुस्से में बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने उठाया यह क़दम

virat KOHLI FAKE FIELDING

विराट कोहली: T20 वर्ल्ड कप में बुधवार की रात को भारत बनाम बांग्लादेश के बीच एक रोमांचक मुकाबला देखने को मिला। जहां टीम इंडिया ने शानदार तरीके से इस मैच को जीतकर अपने नाम किया तो वहीं हार के बाद बौखलाए बांग्लादेश के बल्लेबाज नुरुल हसन ने टीम इंडिया के खिलाड़ी विराट कोहली पर चीटिंग आरोप लगाया है, लेकिन हम इन सब के बीच में एक और नया ट्विस्ट आ गया है। इन सबके बीच में अब बांग्लादेशी क्रिकेट बोर्ड भी कूद पड़ा है।

विराट कोहली पर लगाए थे गंभीर आरोप

बांग्लादेशी बल्लेबाज नुरुल ने विराट कोहली पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा था कि विराट कोहली ने मैच के दौरान फेक फील्डिंग की यह घटना बांग्लादेश के सातवें ओवर की दूसरी गेंद पर घटी जब लिटन दास स्ट्राइक के एक छोर पर थे और यह ओवर अक्षर पटेल कर रहे थे।

तभी अर्शदीप सिंह ने दीप से गेंद से की और दिनेश कार्तिक को कैच दिया, जिन्होंने सुरक्षित रूप से गेंद को इकट्ठा किया, हालांकि जैसे ही अर्शदीप सिंह गेंद को कार्तिक की तरफ बढ़ रहे थे, तभी कोहली ने गेंद के संपर्क में नहीं होने के बावजूद भी थ्रो एक्शन किया।

फेक फील्डिंग पर बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड की प्रतिक्रिया

क्रिकबज की एक रिपोर्ट के मुताबिक, बीसीबी के क्रिकेट संचालन अध्यक्ष जलाल यूनिस ने कहा है कि शाकिब ने अंपायरों के बीच फेक फील्डिंग का मामला उठाया था। लेकिन उन्होंने इसे सिरे से खारिज कर दिया, उन्होंने पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए कहा है कि

“हम सभी ने साफ तौर पर देखा है कि मैदान गीला था। जब हम इन चीजों के बारे में बात करते हैं एक फेक थ्रो भी किया गया था। यह 5 रन का पेनल्टी हो सकता था। वह हमारे पक्ष में आ सकता था, लेकिन दुर्भाग्य से ऐसा नहीं हुआ।”

उन्होंने अपनी बात को बढ़ाते हुए आगे कहा कि

“हमने इसके बारे में बात की आपने टीवी में देखा। सब कुछ आपके सामने हुआ उसने भी एक मामला सूत्रों से जुड़ा हुआ था। हमने अंपायरों को फेक थ्रो के बारे में सूचित किया था। लेकिन उन्होंने यह कहते हुए रिव्यू लेने से इनकार किया कि उन्होंने ये नोटिस ही नहीं किया।”

Read More : IND VS BAN: ‘पता नहीं ऐसा क्यों होता है, हम भारत के खिलाफ जीत के करीब पहुंच के हार जाते हैं’, हार के बाद भर आई शाकिब अल हसन की आंखे

क्या कहता है आईसीसी का नियम

बात अगर आईसीसी के नियम की करें तो आईसीसी का नियम कहता है कि 41.5 के मुताबिक फील्डिंग करने वाली टीम बल्लेबाज को जानबूझकर फेक फील्डिंग नही दिखा सकती है। उसका ध्यान भी नहीं भटका सकती है।

अगर अंपायर को ऐसा लगता है कि किसी खिलाड़ी ने इस नियम को तोड़ा है, तो वह तुरंत डेड बॉल घोषित करके पेनल्टी के 5 रन बल्लेबाजी वाली टीम को दे सकता है।

Read More : T20 World Cup 2022: श्रीलंका की हार से भारत का बिगड़ा समीकरण! टूर्नामेंट में बढ़ गयी भारतीय टीम की मुसीबत, समझे

Source link

Related posts