Join Now

भारतीय क्रिकेट टीम के द स्काई के नाम से मशहूर हुए स्टार बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव (Suryakumar Yadav) इस समय अपनी शानदार लय में चल रहे है। वहीं उनके इसी प्रदर्शन पर टीम इंडिया के पूर्व कप्तान रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने सूर्या के अक्रामक बल्ले का अंदाज देखकर उनकी तुलना अफ्रीका के पूर्व बल्लेबाज एबी डिवीलियर्स से की हैं।

उनका कहना है कि सूर्यकुमार (Suryakumar Yadav) साउथ अफ्रीका के पूर्व बल्लेबाज एबी डिवीलियर्स की तरह ही खेलते हैं। बता दें कि 27 नवंबर को हैमिल्टन में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए मुकाबले में उन्होंने 25 गेंदों का सामना करते हुए 34 रन बनाए थे। लेकिन बारिश की वजह से यह मैच 12.5 ओवर में रोकना पड़ा और कुछ देर ही बाद रद्द हो गया।

Ravi Shastri ने सूर्यकुमार यादव पर दिया बड़ा बयान

दरअसल रविवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए मुकाबले में सूर्यकुमार यादव (Suryakumar Yadav) तीसरे नंबर पर बैटिंग करने उतरे थे। शुरूआत में उन्होंने कुछ रन धीमे से बनाए लेकिन बाद में सूर्या ने अपने बल्ले से घातक बल्लेबाजी करना शुरू किया। लेकिन वहीं बाद में बारिश की वजह से मैच बीच में ही रोकना पड़ा। बहरहाल, उनकी इस पारी को देखने के बाद रवि शास्त्री (Ravi Shastri)  ने प्राइम वीडियो से बात करते हुए कहा कि,

“सूर्या सिर्फ टी20 के बेस्ट बल्लेबाज नहीं हैं। बल्कि वह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं। उनमें विपक्षी टीम की रणनीति को ध्वस्त करने का माद्दा है। क्योंकि वह असामान्य क्षेत्रों में स्ट्रोक खेलते हैं। जब उनका दिन होता है तो वह 30-40 गेंद खेलकर आपको मैच जिता सकते हैं।”

रवि शास्त्री ने की सूर्या की अक्रामक पारी

भारतीय टीम के पूर्व कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने आगे कहा,

“सूर्यकुमार यादव दक्षिण अफ्रीका के पूर्व बल्लेबाज एबी डिवीलियर्स की तरह सर्वश्रेष्ठ हैं। जब एबी ने विशेष पारी खेली तो उन्होंने विपक्षी टीम की हवा निकाल दी। सूर्या भी ऐसा कर सकते हैं। माउंट मौन्गानुई में धमाकेदार शतक लगाने के बाद सूर्यकुमार यादव पहले वनडे मैच में सस्ते में आउट हुए थे।”

रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने सूर्या की तारीफ करते हुए कहा कि, इस मुकाबले में उन्होंने एक शानदार चौका लगया था। लेकिन बाद में लॉकी फर्यग्युसन ने उन्हें सस्ते में आउट कर दिया था। शास्त्री का मानाना है कि, जब किसी मुकाबले में सूर्या 15 या 20 का स्कोर पार कर लेते है तो वहीं फिर उसके बाद बड़ी पारी खेलने के बाद ही मैदान से बाहर आते हैं। ऐसा ही पिछले कुछ समय में सभी को देखने को मिला हैं।