हरमनप्रीत कौर ने बढ़ाया हौसला,अंग्रेजी बोलने में घबरा रही थी रेणुका सिंह, इस VIDEO ने जीता सभी का दिल

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की तेज गेंदबाज रेणुका सिंह (Renuka Singh) ने एशिया कप 2022 के फाइनल मुकाबले में भारत की जीत में अहम भूमिका निभाई है। अपनी तेज रफ्तार गेंदों से विपक्षी टीम के बल्लेबाजों के छक्के छुड़ाने के लिए मशहूर रेणुका ने श्रीलंका के सामने ऐसा कहर बरपाया की पूरी टीम 65 रनों के आंकड़े के भीतर ही सिमट कर रह गई। रेणुका को इस खास प्रदर्शन के लिए प्लेयर ऑफ द मैच के अवॉर्ड से भी नवाजा गया। लेकिन इस दौरान जब उन्हें खिताब देने के लिए बुलाया गया तो सभी के सामने एक अनोखा दृश्य सामने आया। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है।

Renuka Singh को अंग्रेजी बोलने में हो रही थी घबराहट

हिमाचल से आने वाली रेणुका सिंह (Renuka Singh) मौजूदा समय में टीम इंडिया की सबसे घातक गेंदबाज बन गई हैं। झूलन गोस्वामी के बाद बतौर तेज गेंदबाज महिला क्रिकेट टीम में सिर्फ उनका ही नाम छाया हुआ रहता है। कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में उनके द्वारा किए गए घातक स्पेल आज भी भारतीय फैंस भूल नहीं पाए हैं, कुछ ऐसा ही प्रदर्शन उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ एशिया कप 2022 के फाइनल मुकाबले में किया।

इस मुकाबले में रेणुका सिंह (Renuka Singh) ने अपने कोटे के 3 ओवर में सिर्फ 5 रन देकर 5 महत्वपूर्ण विकेट झटके और श्रीलंका की कप्तान को रन आउट करने में भी अहम भूमिका निभाई। जिसके चलते उन्हें फाइनल के मौके पर प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया। लेकिन जब उन्हें अवॉर्ड लेने के लिए बुलाया गया तो रेणुका घबरा गईं क्योंकि ब्रॉडकास्टर की ओर से अंग्रेजी बोलने वाला शख्स मौजूद था।

ऐसे में रेणुका ने ट्रांसलेटर लेने की इच्छा जाहिर की, जिसको देखते हुए कप्तान हरमनप्रीत कौर और उनकी बाकी साथी खिलाड़ियों ने ठाकुर (Renuka Singh) का हौसला बढ़ाया। जिसके बाद वह अकेली ही ब्रॉडकास्टर से बातचीत करने चली गईं। सोशल मीडिया पर इस घटना के वीडियो ने सभी का दिल जीत लिया है।

भारत ने श्रीलंका को मात देकर 7वीं बार जीता एशिया कप

इसके साथ ही बात की जाए मैच की तो एशिया कप (Asia Cup) फाइनल मुकाबले में भारत की ओर से गेंदबाजी में धार और फील्डिंग में गजब की मुस्तैदी देखने को मिली। इस जीत की सबसे बड़ी सुपरस्टार रेणुका सिंह ठाकुर (Renuka Singh) रहीं, उन्होंने अपने कोटे के 3 ओवर में 3 विकेट अपने नाम किए। इसके अलावा राजेश्वरी गायकवाड और स्नेह राणा के खाते में भी 2-2 विकेट आए।

जिसके चलते श्रीलंका 9 विकेट के नुकसान पर सिर्फ 65 रन ही बना सकी। गेंदबाजों के द्वारा शानदार प्रदर्शन ने भारत की जीत को सुनिश्चित कर दिया था। ऐसे में सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना (Smriti Mandhana) श्रीलंका पर कहर बनकर टूटी और 25 गेंदों का सामना करते हुए 51 रनों की शानदार पारी खेलते हुए सिर्फ 8.3 ओवर में ही टीम इंडिया को जीत की दहलीज पार कराई।

Related posts