ENG vs IND: रोहित शर्मा और राहुल द्रविड़ की जिद्द में डूबी भारतीय टीम, भारतीय कप्तान की इस गलती की वजह से शर्मनाक तरीके से हारा भारत

 

IND vs ENG

इंग्लैंड और पाकिस्तान के बीच 13 नवंबर को मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर फाइनल खेला जायेगा क्योंकि इंग्लैंड ने भारत को 10 विकेट से हरा दिया है. टॉस जीतकर इंग्लैंड ने पहले गेंदबाजी की. भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 169 रन बनाया. जवाब में इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाजों ने अकेले दम पर यह लक्ष्य हासिल कर लिया. भारत इस विश्व कप से बाहर हो गया और इंग्लैंड फाइनल में पहुंच गया है.

भारत ने दिया था 169 रनों का लक्ष्य

टॉस हारकर भारत को पहले बल्लेबाजी करने आना पड़ा. सलामी बल्लेबाज केएल राहुल ने एक फिर से भारत को निराश किया. केएल राहुल सिर्फ सिर्फ 5 रन बनाकर पवेलियन लौट गए. इसके बाद रोहित और विराट कोहली के बीच एक धीमी साझेदारी हुई. रोहित शर्मा भी अपने रंग में नही दिख रहे थे, उन्होंने 28 गेंदो पर 27 रनो की पारी खेली.

सूर्यकुमार यादव ने भारतीय फैंस को कुछ उत्साहित किया, लेकिन वह 14 रन बनाकर आउट हो गए. भारत के संकटमोचक विराट कोहली और हार्दिक पांड्या ने एक बार फिर से भारत-पाकिस्तान को संकट से बाहर निकाला. जहाँ विराट कोहली ने 40 गेंदो में 5 चौके और एक छक्के की मदद से 50 रनों की पारी खेली, तो हार्दिक पांड्या ने 33 गेंदो में 4 चौके और 5 छक्के की मदद से 63 रन बनाए. इन दोनों की साझेदारी से भारत ने इंग्लैंड के सामने 20 ओवर में 169 रनों का लक्ष्य रखा.

इंग्लैंड के तरफ से सबसे सफल गेंदबाज क्रिस जॉर्डन रहे. जाॅर्डन ने 4 ओवर में 43 रन देकर 3 विकेट अपने नाम किया. वही आदिल राशिद और वोक्स को भी एक-एक सफलताएं प्राप्त हुई.

इंग्लैंड 10 विकेट से जीता

169 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड की शुरुआत शानदार रही. सलामी बल्लेबाज एलेक्स हेल्स ने शानदार अर्धशतक जड़ा. हेल्स ने 47 गेंदो में 4 चौके और 7 छक्के की मदद से 86 रन बनाए.

कप्तान जोस बटलर ने 49 गेंदो में 9 चौके और 3 छक्के की मदद से 80 रनों की पारी खेली. इंग्लैंड ने पहले विकेट के लिए 170 रन जोड़े और मैच 10 विकेट से जीत लिया.

ALSO READ: ‘Sorry, हम नहीं चाहते इंडिया सेमीफाइनल में जीते, हमें विराट से डर लगता है’

कप्तान रोहित और राहुल द्रविड़ के जिद की वजह से हारा भारत

भारतीय कप्तान रोहित शर्मा और कोच राहुल द्रविड़ ने जीतने का थोड़ा सा भी इंटेंट नही दिखाया. भारतीय टीम मैनेजमेंट ने एडिलेड के पिच को सही से तो नही पढ़ा वहीं उन्होंने दूसरी टीमों के मुकाबलों से भी कुछ नहीं सीखा. एडिलेड ओवल की ये पिच रिस्ट स्पिनरों की मददगार होती है, लेकिन युजवेंद्र चहल को फिर भी मौका नहीं दिया गया.

युजवेंद्र चहल को अश्विन या फिर अक्षर पटेल की जगह मौका दिया जा सकता था. क्रिकेट एक्सपर्ट भी इस बात को बोलते आ रहे थे, लेकिन भारतीय टीम शायद नॉकआउट मुकाबले जीतना ही नहीं चाहती है.

ALSO READ: ‘केएल राहुल केवल कमजोर टीमों को कुचलता है’ भारत की हार के बाद भड़के फैंस, सोशल मीडिया को लगाई फटकार

Source link

Related posts