बांग्लादेश की हार के बाद शाकिब अल हसन की इस हरकत पर भड़के वीरेंद्र सहवाग, विराट कोहली से सिखने की दी सलाह

 

Team India

बांग्लादेश और भारत के बीच हुए टी-20 वर्ल्ड कप मुकाबले में टीम इंडिया (Team India) ने बांग्लादेश को 5 रन से हराते हुए अब सेमीफाइनल में लगभग अपनी जगह पक्की कर ली है जहां बांग्लादेश की हार के बाद कप्तान शाकिब अल हसन की बौखलाहट साफ देखने को मिली जिन्होंने अपनी हार का जिम्मा कई चीजों पर फोडा़ जहां अब वीरेंद्र सहवाग ने शाकिब अल हसन को एक बहुत बड़ी नसीहत दे दी है जो सोशल मीडिया पर इस वक्त खूब चर्चे में आ चुका है.

भाग्य को कोसते नजर आए शाकिब अल हसन

दरअसल टीम इंडिया (Team India) के हाथों मिली 5 रन की नजदीकी हार के बाद बांग्लादेश के कप्तान शाकिब अल हसन अलग-अलग बहाना बनाते नजर आ रहे हैं. टीम इंडिया (Team India) के हाथों हार के बाद उन्होंने बहाना बनाते हुए कहा कि हमें पता ही नहीं है कि इस तरह के करीब मैच कैसे और किस तरह जीते जाते हैं. हमने बहुत अधिक करीबी मैच नहीं खेले हैं.

इसलिए हमें इस बारे में जानकारी नहीं है. हमारे सामने पहले एक 185 और बाद में 151 रन का लक्ष्य जिसे हासिल किया जा सकता पर हमारे भाग्य ने हमारा साथ नहीं दिया.

कप्तान की इस हरकत पर भड़के सहवाग

टीम इंडिया (Team India) के पूर्व खिलाड़ी वीरेंद्र सहवाग ने शाकिब अल हसन की बौखलाहट पर अब बहुत बड़ी प्रतिक्रिया दी है और जमकर क्लास लगाई है. वीरेंद्र सहवाग ने विस्फोटक बल्लेबाज विराट कोहली का नाम लेते हुए एक बहुत बड़ी सीख दी और कहा कि

“जब बांग्लादेश की टीम मुश्किल में फंसी हुई थी तो शाकिब अल हसन 12 गेंद पर 13 रन बनाकर आउट हो गए. जबकि उन्हें लंबे समय तक रहना चाहिए था. वह इस वक्त बांग्लादेश के कप्तान की जिम्मेदारी नहीं निभा पा रहे हैं इसलिए खुद की नाकामी किसी और न थोपे.”

ALSO READ: T20 World Cup: विराट कोहली को बेईमान बताने वाले पाकिस्तानी खिलाड़ी की बढ़ी मुसीबत, ICC ले सकती है कठोर एक्शन

विराट कोहली की तरह बनें जिम्मेदार

टीम इंडिया (Team India) के विस्फोटक बल्लेबाज विराट कोहली इस वक्त भारत के लिए कई शानदार पारी खेल चुके हैं, जिसे लेकर वीरेंद्र सहवाग ने कहा कि

“जब शाकिब अल हसन को क्रीज पर रहकर अपनी टीम के लिए रन बनाना था, ऐसी परिस्थिति में वह आउट हो गए. वह एक अनुभवी खिलाड़ी हैं और अगर वह विराट कोहली की तरह जिम्मेदारी लेकर अंत तक खेलते तो अपनी टीम को मुश्किल परिस्थिति से निकाल सकते थे.”

 

Related posts