सचिन और सहवाग किसके साथ ओपनिंग करने में आता था सबसे ज्यादा मजा? सौरव गांगुली ने लिया ये नाम

Sourav Ganguli sachin tendulakr and virendra sehwag

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Saurav Ganguli) जिन्होंने कई बार मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के साथ इंटरनेशनल क्रिकेट में पारी का आगाज किया है और इन दोनों की जोड़ी ने कई ऐतिहासिक पारियां भी खेली है, जो कई दशकों तक याद रखा जाएगा.

हालांकि जब सौरव गांगुली (Saurav Ganguli) से पूछा गया कि उन्हें वीरेंद्र सहवाग या सचिन तेंदुलकर दोनों में से किस बल्लेबाज के साथ ओपनिंग करने में सबसे ज्यादा मजा आता था? तो उन्होंने एक बेहद ही मजेदार तरीके से इसका जवाब दिया और उन्होंने इसके पीछे एक बहुत बड़ी वजह भी बताई कि आखिर क्यों उन्हें इस खिलाड़ी के साथ ओपनिंग करने में बेहद ही मजा आता था.

इस खिलाड़ी के साथ ओपनिंग करने में आता था मजा

जब सौरव गांगुली (Saurav Ganguli) से यह पूछा गया कि सचिन तेंदुलकर या वीरेंद्र सहवाग में से किस खिलाड़ी के साथ उन्हें ओपनिंग करने में सबसे ज्यादा मजा आता था, तो इसके जवाब में सौरव गांगुली ने कहा कि उन्हें वीरेंद्र सहवाग की तुलना में सचिन तेंदुलकर के साथ बल्लेबाजी करने में सबसे ज्यादा मजा आता था, क्योंकि सचिन तेंदुलकर ने उन्हें एक बेहतर खिलाड़ी बनाया और इस बात को वह पूरे जीवन नहीं भूल सकते.

आपको बता दें कि मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने एक बार पसली टूटने के बाद भी अपनी पारी जारी रखी थी और उन्होंने हर मौके पर अपने देश के लिए शानदार प्रदर्शन किया. यही वजह है कि वो आज क्रिकेट के भगवान कहे जाते हैं.

सौरव गांगुली को सचिन ने काफी किया प्रेरित

सौरव गांगुली (Saurav Ganguli) ने खुद इस बात को बताया कि सचिन तेंदुलकर के साथ उन्हें ओपनिंग करने में सबसे ज्यादा इसलिए मजा आता था, क्योंकि सचिन सबसे ज्यादा समझदार थे और सहवाग पागल थे. सचिन ने मुझे एक बेहतर खिलाड़ी भी बनाया और मुझे अपने खेल के स्तर को उठाने के लिए काफी प्रेरित किया.

जब सौरव गांगुली (Saurav Ganguli) से पूछा गया कि वह अपने जीवन में किस व्यक्ति का सबसे ज्यादा आदर करते हैं, तो यहां भी उन्होंने सचिन तेंदुलकर का ही नाम लिया और कहा कि वह स्पेशल हैं और मैंने उन्हें काफी करीब से देखा है.

ALSO READ: गम-सदमा और देर रात आया व्हाट्सएप मैसेज, हार के बाद इंडियन ड्रेसिंग रूम में क्या चल रहा था? जानिए

चोट के बावजूद भी मैदान पर डटे रहे

एक पुराना किस्सा याद करते हुए सौरव गांगुली (Saurav Ganguli) ने बताया कि जब तेंदुलकर को रिब केज पर गेंद लगी, तब उन्होंने बिल्कुल भी कोई शोर नहीं किया. फिर अगले दिन पता चला कि उन्हें डबल फ्रैक्चर हुआ है, लेकिन इसके बावजूद भी वह मैदान पर डटे रहे थे.

आपको बता दें कि सौरव गांगुली (Saurav Ganguli) से जब पूछा गया कि कौन सा गेंदबाज उनके लिए सबसे ज्यादा परेशानी खड़ा करता था? तो उन्होंने श्रीलंका के गेंदबाज मुथैया मुरलीधरन का नाम लिया और बताया कि वह बेहद ही खतरनाक गेंदबाजी करते थे.

ALSO READ: टी20 वर्ल्ड कप 2022 सेमीफाइनल में भारत की हार के बाद PAK PM के 152/0 vs 170/0 ट्वीट पर बाबर आजम ने तोड़ी चुप्पी

Source link

Related posts