पाकिस्तान महिला क्रिकेट की कप्तान बिस्माह मारूफ ने खोली PCB की पोल-पट्टी

T20 वर्ल्ड कप टीम के निराशाजनक के बाद पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) भी काफी परेशान दिखाई दे रहा है। अब उसके खिलाफ एक और शिकायत दर्ज की गई है। पाकिस्तानी महिला क्रिकेट टीम इसी समय आयरलैंड के खिलाफ घर में सीरीज खेल रही है। जिस दौरान पाकिस्तानी महिला टीम की कप्तान बिस्माह मारूफ (Bismah Maroof) ने चौंकाने वाले बयान दिया है, उसके बाद पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड पर एक बार फिर जांच के घेरे में ला खड़ा किया है।

कप्तान बिस्माह मारूफ ने लगाये आरोप

Bismah maroof On PCB

कुछ सालों से महिला क्रिकेट में काफी अच्छी उम्मीदें देखी गई है और उन्होंने काफी लोकप्रियता भी प्राप्त की है। कहीं क्रिकेट बोर्ड और ऐसी परिस्थितियों में महिला क्रिकेटर है। वह पुरुष क्रिकेटर के समान वेतन देने पर भी विचार कर रहे हैं। वही भारत और न्यूजीलैंड के क्रिकेट संघों ने इसे अति आते ही ऐतिहासिक स्थिति को करीब से देखा है। हालांकि इस बीच बिस्माह मारूफ ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड पर पिछले 8 साल से उनकी सैलरी बढ़ाने का आरोप लगाया है।

एक संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने इस विषय पर चर्चा की और कहा, “मुझे लगता है कि महिला क्रिकेटर भी बहुत मेहनत करती हैं। निस्संदेह, पाकिस्तान को भारत, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों को पकड़ने के लिए महिला क्रिकेट में महत्वपूर्ण प्रगति करनी चाहिए। उन्होंने बताया की कि बोर्ड ने खिलाड़ियों को ईनाम दिया है और अच्छी कोचिंग सुविधाएं दी हैं, लेकिन वेतन समान न रखने से निःसंदेह उन्हें और टीम को कही न कही खटक रहा है।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड द्वारा एक अच्छी खबर भी सामने आई है, पिछले महीने बीसीसीआई द्वारा घोषणा की गई थी कि पूर्व क्रिकेटरों के भुगतान के बराबरी महिला क्रिकेटर को भुगतान किया जाएगा। बीसीसीआई सचिव जय शाह के मुताबिक और महिलाओं को पुरुषों के बराबर मैच फीस दी जाएगी। टेस्ट क्रिकेट में एक मैच के लिए 15 लाख रुपए मिलते हैं। इसके विपरीत पुरुषों को एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय प्रत्येक मैच के लिए 6 लाख फीस दी जाती है।

Source link

Related posts