जंगल में लगभग 4,000 से अधिक बाघ ही न क्यों हो लेकिन वहां पर सिर्फ अकेला ही काफी हैं भारतीय कोच को रॉस टेलर ने क्यों कहा

न्यूजीलैंड टीम के पूर्व कप्तान रॉस टेलर ने इस साल की शुरुआत में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया। काफी लंबे समय तक रॉस टेलर कीवी टीम के मध्यक्रम के सबसे अहम बल्लेबाज बने हुए थे, जिसमें उन्होंने टीम के लिए कई मैच विनिंग पारियां भी खेली। साल 2019 के वनडे वर्ल्ड कप के सेमी-फाइनल मुकाबले में टेलर ने भारत के खिलाफ काफी अहम पारी खेली थी। इसके अलावा वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप 2021 के फाइनल मुकाबले में भी टेलर ने टीम के मैच विनिंग पारी खेली थी।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद रॉस टेलर ने अपनी आत्मकथा के जरिए कई नए खुलासे करने के साथ अपने क्रिकेट जीवन के अनुभवों को भी साझा किया। जिसमें उनकी आत्मकथा को ब्लैक एंड व्हाइट के नाम से पब्लिश किया गया है। इस किताब में पूर्व भारतीय कप्तान और टीम इंडिया के मौजूदा मुख्य कोच राहुल द्रविड़ का भी जिक्र किया गया है। जिसमें उन्होंने एक किस्से को काफी खूबसूरती से बयां किया।

दरअसल इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में रॉस टेलर को राहुल द्रविड़ के साथ खेलने का मौका मिला था। जिसमें राजस्थान में एक मुकाबले से पहले टीम वहां पर स्थित रणथंभौर नेशनल पार्क में घूमने गई हुई थी। जहां पर सभी लोग बाघ को देखने के लिए काफी उत्सुक थे। लेकिन टेलर ने बताया कि वहां पर मौजूद लोग बाघ को देखने में अधिक दिलचस्पी नहीं दिखा रहे थे बल्कि उन्हें राहुल द्रविड़ को देखना था।

हम जितना बाघ को देखने के लिए उत्सुक थी, उतना वह लोग द्रविड़ को – रॉस टेलर

रॉस टेलर ने अपनी आत्मकथा में लिखा कि, आपने कितनी बार बाघ को देखा है? तो उन्होंने जवाब में कहा कि मैने कभी नहीं देखा है। जिसमें उन्होंने आगे कहा कि मैं इसमें 21 अभियान का हिस्सा रहा हूं लेकिन उसमें से एक में भी मुझे बाघ देखने का मौका नहीं मिला है। जिसके बाद मुझे भी लगा कि शायद मुझे नहीं जाना चाहिए। मैने उनसे कहा कि मैं डिस्कवरी पर देख लूंगा।

जिसके बाद अगले दिन सुबह हम सब सफारी पर गए जिसमें हमारे ड्राइवर को उसके एक साथी ने रेडियो पर बताया कि उन्होंने एक टी-17 जो मशहूर बाघ की प्रजाती है उसे देखा है। जिसके बाद द्रविड़ के साथ हम सभी काफी उत्साहित थे। जिसके बाद हम उस टाइगर के पास पहुंचे जो हमसे सिर्फ 100 मीटर की दूरी पर था। लेकिन वहां पर बाकी जो लोग उस टाइगर को देखने के लिए आए थे, उन्होंने अपने कैमरे को राहुल द्रविड़ की तरफ मोड़ दिया। वह राहुल को देखकर काफी अधिक उत्साहित थे। उस समय मुझे लगा कि भले ही पूरे विश्व में 4,000 अधिक टाइगर क्यों ना हों लेकिन सिर्फ एक ही राहुल द्रविड़ है।

बता दें कि राहुल द्रविड़ और रॉस टेलर ने साल 2008 के IPL सीजन से लेकर साल 2011 के सीजन तक एक साथ खेला है। जिसमें दोनों ही साल 2008 से 2010 के सीजन तक रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम का हिस्सा थे, जिसके बाद इन दोनों ही खिलाड़ियों ने साल 2011 का सीजन राजस्थान रॉयल्स टीम की तरफ से खेला।