ऑस्ट्रेलिया की राह जिम्बाब्वे से खुलेगी,भारतीय टीम के चार खिलाड़ियों के पास यही मौका

हरारे में खेला जाएगा क्रिकेट मैच, लेकिन नजरें ऑस्ट्रेलिया पर होंगी। फॉर्मेट वनडे इंटरनेशनल होगा, लेकिन T-20 क्रिकेट दिमाग में चल रहा होगा। भारतीय क्रिकेट टीम जिम्बाब्वे के साथ तीन मैचों की एकदिवसीय सीरीज खेलने जा रही है और इस टीम में कुछ खिलाड़ी ऐसे भी हैं जिन पर ये बातें लागू होंगी। जिन्हें एशिया कप 2022 के लिए भारतीय टीम में जगह नहीं मिली, लेकिन उन्हें उम्मीद होगी कि वे यहां बढ़िया प्रदर्शन कर ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 वर्ल्डकप के लिए अपनी दावेदारी पेश कर सकेंगे।

यह श्रृंखला 18 अगस्त से जिम्बाब्वे की राजधानी हरारे में खेली जाएगी। इस दौरे के लिए एशियाकप के लिए चुने गए खिलाड़ियों को आराम दिया गया है। यूएई में 27 अगस्त से एशिया कप स्टार्ट होना है। इस दौरे पर कप्तान बनाए गए लोकेश राहुल, अवेश खान एवं दीपक हुड्डा ही ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्हें एशिया कप के लिए चुना गया है। इनके अलावा अक्षर पटेल और दीपक चाहर को स्टैंडबाय पर रखा गया है। लेकिन इनके अलावा कुछ और नाम भी हैं जिनके लिए यह दौरा महत्वपूर्ण है।

ईशान किशन

टीम इंडिया के यंग विकेटकीपर बल्लेबाज ईशान किशन को एशिया कप के लिए चुना गया था, जिसे फिक्स माना जा रहा था। इसके बावजूद कई विशेषज्ञों ने इस पर काफी आश्चर्य भी जताया। खैर, ईशान का हालिया प्रदर्शन चढ़ाव उतार से भरा रहा है। वह आईपीएल में उम्मीदों के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर सके। हालांकि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ कुछ बेहतरीन पारियां खेली गईं। 2022 में इशान किशन ने 14 पारियों में 430 रन बनाए हैं, जो टीम इंडिया के लिए दूसरा सबसे बड़ा स्कोर है। ऐसे में वह इस सीरीज में दमदार प्रदर्शन के साथ खुद को फिर से दावेदारी में पेश करना चाहेंगे।

कुलदीप यादव

वैसे भारत की टीम का स्पिन विभाग काफी भरा हुआ है और युजवेंद्र चहल का साथ देने के लिए रवींद्र जडेजा एवं रविचंद्रन अश्विन हैं। इसके बावजूद कुलदीप यादव के पास मौका है। वेस्टइंडीज के खिलाफ केवल एक मैच खेलने का मौका मिला और उसमें कुलदीप ने कमाल किया। साथ ही हार्दिक पांड्या की दोबारा गेंदबाजी से युजवेंद्र और कुलदीप की जोड़ी को फिर से मैदान में उतारना ज्यादा मुश्किल नहीं होगा। हालांकि, फिर भी यादव को कुछ खास करना होगा, ताकि उन पर विचार किया जा सके।

संजू सैमसन

इस तेजतर्रार विकेटकीपर व बल्लेबाज को लेकर हमेशा शिकायत रही है कि वह लगातार बढ़िया प्रदर्शन नहीं कर पा रहा है, लेकिन यह भी सच है कि उसे लगातार कई मैचों में मौका नहीं मिलता। कप्तान रोहित शर्मा ने भी पिछले दिनों सैमसन के बारे में कहा था कि वह योजना का हिस्सा हैं, खासकर ऑस्ट्रेलिया-की उछाल भरी परिस्थितियों के खिलाफ, वह एक बेहतर बल्लेबाज साबित हो सकते हैं। संजू ने इस साल T-20 इंटरनेशनल में 5 पारियां खेली हैं, जिसमें उन्होंने 158 के स्ट्राइक-रेट से 179 रन बनाए हैं। यानी उनके पास अभी भी मौका है।

प्रसिद्ध कृष्ण

इस लंबे तेज गेंदबाज ने कम टाइम में काफी प्रभावित किया है। फेमस ने पिछले साल भारतीय टीम के लिए वनडे डेब्यू किया था और अबतक अच्छा प्रदर्शन किया है। हालाँकि उसे अभी T20 टीम में जगह बनाना बाकी है, लेकिन उसकी तेज गति और किसी भी पिच पर उछाल लेने की क्षमता जो बैट्समैनों को परेशान करती है, उसे घातक बना देती है। उन्होंने आईपीएल 2022 में भी यह काबिलियत दिखाई है। ऐसे में संभव है कि वर्ल्डकप से पहले उन्हें ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका सीरीज के लिए मौका मिल जाए।